Shraddha murder case : फ्रिज में कटा हुआ सिर रखकर श्रद्धा का चेहरा देखता था आफताब, पढ़ें पूरी खबर

Published:

Sanjha Punjab Tv :  श्रद्धा वाकर हत्याकांड की जांच कर रही दिल्ली पुलिस अब इस बात की जांच कर रही है कि कहीं आरोपी आफताब अमीन पूनावाला ने उसकी हत्या की साजिश के तहत ही दिल्ली के छतरपुर में एक फ्लैट किराए पर तो नहीं लिया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, आफताब श्रद्धा का कटा हुआ सिर फ्रिज में रखकर उसका चेहरा देखता था।

आफताब ने श्रद्धा की हत्या कर किए 35 टुकड़े

आफताब को अपनी प्रेमिका श्रद्धा की हत्या करने, उसके शरीर को 35 टुकड़ों में काटने और उन्हें ठिकाने लगाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। सोमवार को दिल्ली पुलिस ने छह महीने पुराने हत्या के मामले का पर्दाफाश किया था। पुलिस ने खुलासा किया कि आफताब एक फूड ब्लॉगर था, जो दिल्ली में एक कॉल सेंटर में काम करता था। पुलिस के मुताबिक, आफताब और श्रद्धा के बीच अक्सर झगड़े होते थे।

हिमाचल में हुई थी छतरपुर में रहने वाले व्यक्ति से मुलाकात

पुलिस सूत्रों ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि आरोपी और पीड़िता, जो एक डेटिंग साइट पर मिले थे, 2019 से रिश्ते में थे और इसी साल दिल्ली आए थे। इससे पहले वे महाराष्ट्र में थे। पुलिस ने कहा कि दोनों एक साथ कई जगह घूमने जाते थे। दोनों मार्च-अप्रैल में हिल स्टेशनों पर भी जाया करते थे। मई में दोनों हिमाचल प्रदेश गए, जहां उनकी मुलाकात दिल्ली के छतरपुर में रहने वाले एक व्यक्ति से हुई।हत्या से कुछ दिन पहले ही किराए पर लिया था फ्लैट

हत्या से कुछ दिन पहले ही किराए पर लिया था फ्लैट

रिपोर्ट्स में कहा गया है कि दिल्ली शिफ्ट होने के बाद, वे शुरू में उस आदमी के फ्लैट में रुके थे। बाद में आफताब ने छतरपुर में एक फ्लैट किराए पर लिया और श्रद्धा के साथ वहां शिफ्ट हो गया। 18 मई को छतरपुर फ्लैट में श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी। पुलिस जांच में पता चला है कि हत्या से कुछ दिन पहले ही फ्लैट किराए पर लिया गया था।क्या पहले से रची थी श्रद्धा की हत्या की साजिश ?

क्या पहले से रची थी श्रद्धा की हत्या की साजिश ?

पुलिस सूत्रों ने कहा, ‘यह भी जांच का विषय है कि क्या आफताब ने पहले ही उसकी हत्या की साजिश रची थी।’ पीड़िता के शरीर के कथित तौर पर 35 टुकड़े करने वाले आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह उन्हें ठिकाने लगाने के लिए रात दो बजे निकलता था।

पुलिस ने बताया कि आफताब ने गूगल पर सर्च करने के बाद फर्श पर लगे खून के धब्बों को कुछ केमिकल से साफ किया और दाग लगे हुए कपड़ों को फेंक दिया। फिर उसने शव को बाथरूम में शिफ्ट कर दिया और पास की दुकान से फ्रिज खरीदा। बाद में उसने शव के छोटे-छोटे टुकड़े कर फ्रिज में रख दिए।

Related articles

Recent articles